If Shop, Hotel License Is Not Found, Then Penalty Will Be Given – दुकान, होटल का लाइसेंस न मिला तो देना होगा जुर्माना


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

* सिर्फ ₹ 299 सीमित अवधि की पेशकश के लिए वार्षिक सदस्यता। जल्दी से!

ख़बर सुनता है

दुकान, होटल का लाइसेंस न मिला तो देना पड़ेगा
बत्तीसी। अवैध रूप से दुकान, ढाबा या होटल चलाने पर अब लाइसेंस शुल्क के बराबर किराया वसूला जाएगा। शुक्रवार को जिला पंचायत के कार्यों की समीक्षा करते हुए डीएम आशुतोष निरंजन ने कहा कि अभियान चलाकर ग्रामीण क्षेत्र में दुकानों, ईंट-भट्ठा, होटल, ढाबा और अन्य व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के लाइसेंस की जांच की जाएगी।
कहा कि लाइसेंस न पाए जाने पर उनका विज्ञापन किया जाएगा। अवैध रूप से संचालित हो रही प्रतिष्ठानों पर लाइसेंस शुल्क के बराबर ही भालू भी वसूला जाए। डीएम ने निर्देश दिया है कि कार्रवाई से पहले उन्हें नोटिस देकर लाइसेंस बनवाने का एक अवसर भी दिया जाए। जिलाधिकारी ने जिला पंचायत की राजस्व वसूली का लक्ष्य 1.5 करोड़ से बढ़ाकर दो करोड़ कर दिया है।
इसके पूर्व जिला पंचायत प्रशासक का कार्यभार ग्रहण करते समय उन्होंने तत्कालीन लक्ष्य 1.08 करोड़ को बढ़ाकर 1.5 करोड़ रुपये कर दिया था। जिला पंचायत के कर्मचारियों ने अब तक 1.48 करोड़ रुपये राजस्व की वसूली की है। डीएम ने निर्देश दिया है कि 31 मार्च 2021 तक दो करोड़ रुपये राजस्व वसूली सुनिश्चित करें। उन्होंने जिला पंचायत के संपत्तियों के अवैध रूप से बने लोगों से उसे खाली कराने का भी निर्देश दिया है।
जिला पंचायत के लोहिया मार्केट में बनने वाली 72 दुकानों की स्थिति की भी समीक्षा की। अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत विकास मिश्रा ने बताया कि 10 लाख से अधिक लागत होने के कारण इसकी तकनीकी स्वीकृति लखनऊ से प्राप्त करने के लिए स्टीमेट भेजा गया है। स्वीकृति प्राप्त होते ही निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा। समीक्षा बैठक में एडीएम अभय कुमार मिश्र और एसडीएम भानपुर आनंद श्रीनेत उपस्थित रहे।

दुकान, होटल का लाइसेंस न मिला तो देना पड़ेगा

बत्तीसी। अवैध रूप से दुकान, ढाबा या होटल चलाने पर अब लाइसेंस शुल्क के बराबर आय वसूला जाएगा। शुक्रवार को जिला पंचायत के कार्यों की समीक्षा करते हुए डीएम आशुतोष निरंजन ने कहा कि अभियान चलाकर ग्रामीण क्षेत्र में दुकानों, ईंट-भट्ठा, होटल, ढाबा और अन्य व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के लाइसेंस की जांच की जाएगी।

कहा कि लाइसेंस न पाए जाने पर उनका विज्ञापन किया जाएगा। अवैध रूप से संचालित हो रही प्रतिष्ठानों पर लाइसेंस शुल्क के बराबर ही भालू भी वसूला जाए। डीएम ने निर्देश दिया है कि कार्रवाई से पहले उन्हें नोटिस देकर लाइसेंस बनवाने का एक अवसर भी दिया जाए। जिलाधिकारी ने जिला पंचायत की राजस्व वसूली का लक्ष्य 1.5 करोड़ से बढ़ाकर दो करोड़ कर दिया है।

इसके पूर्व जिला पंचायत प्रशासक का कार्यभार ग्रहण करते समय उन्होंने तत्कालीन लक्ष्य 1.08 करोड़ को बढ़ाकर 1.5 करोड़ रुपये कर दिया था। जिला पंचायत के कर्मचारियों ने अब तक 1.48 करोड़ रुपये राजस्व की वसूली की है। डीएम ने निर्देश दिया है कि 31 मार्च 2021 तक दो करोड़ रुपये राजस्व वसूली सुनिश्चित करें। उन्होंने जिला पंचायत के संप्रदाय अधिकारियों में अवैध रूप से रह रहे लोगों से उसे खाली कराने का भी निर्देश दिया है।

जिला पंचायत के लोहिया मार्केट में बनने वाली 72 दुकानों की स्थिति की भी समीक्षा की। अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत विकास मिश्रा ने बताया कि 10 लाख से अधिक लागत होने के कारण इसकी तकनीकी स्वीकृति लखनऊ से प्राप्त करने के लिए स्टीमेट भेजा गया है। स्वीकृति प्राप्त होते ही निर्माण कार्य शुरू करना दिया जाएगा। समीक्षा बैठक में एडीएम अभय कुमार मिश्र और एसडीएम भानपुर आनंद श्रीनेत उपस्थित रहे।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

User~Online 40
Sitemap | AdSense Approvel Policy|