Nomination Forms Checked – तय हो गए चुनावी दंगल के महारथी


विकास भवन में चुनाव चिन्ह लेने के लिए महिला प्रत्याशियों की भीड़ लगी।  अंतरिम एजेंसी

विकास भवन में चुनाव चिन्ह लेने के लिए महिला प्रत्याशियों की भीड़ लगी। अंतरिम एजेंसी
– फोटो: BASTI

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनकर

तय हो गए चुनावी दंगल के महारथी
सभी आरओ ने वैध नामांकन पर लगाई मुहर
29 अप्रैल को ब्लॉकवार बोली होगी
अंतरिम एजेंसी
बत्तीसी। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में पर्चों की जांच पूरी करने के बाद चुनावी दंगल में अपनी ताकत दिखाने के लिए दावेदारों की प्रत्याशीता तय हो गई। जिले के सभी आरओ ने प्रधान, बीडीसी मेंबर और ग्राम पंचायत सदस्यों के पर्चों की गहनता से जांच के बाद मुहर लगाई।
इस क्रम में हर्रैया में प्रमुख पद पर 367, बीडीसी सदस्य पद पर 270 और ग्राम पंचायत सदस्य पद पर 729 पर्चे वैध पाए गए हैं, जबकि प्रधान का एक, बीडीसी सदस्य का दो तो सदस्य पद का 95 पर्चे खारिज हो चुके हैं। गौर में प्रधान पद के 1046, सदस्य पद के 776 व बीडीसी सदस्य के 622 पर्चे जांच में वैध पाए गए हैं। यहां प्रधान पद का एक, सदस्य के 12 व बीडीसी सदस्य का एक पर्चा खारिज किया गया है। रुधौली में कोई भी नामांकन पत्र निरस्त नहीं किया गया है। यहां ग्राम प्रधान पद पर 496, ग्राम पंचायत सदस्य पद पर 576 जबकि बीडीसी सदस्य पद पर 242 ने दावेदारी की। सभी के पर्चे वैध पाए गए हैं। वहीं, बनकटी ब्लॉक में प्रधान के सात व ग्राम पंचायत सदस्य पद के 28 जबकि बीडीसी सदस्य के तीन नामांकन निरस्त किए गए हैं। यहां कुल 661 प्रमुख, 502 सदस्य व 374 बीडीसी सदस्य के नामांकन पत्र वैध पाए गए हैं। कप्तानगंज में प्रमुख पद के 379, सदस्य के 420 जबकि बीडीसी सदस्य के 231 पर्चे वैध पाए गए हैं। यहां प्रधान पद के तीन, सदस्यों के 37 तो बीडीसी सदस्य के तीन पर्चे खारिज किए गए हैं। रामनगर ब्लॉक में प्रधान के 642, ग्राम पंचायत सदस्य 583 तो बीडीसी सदस्य के 384 नामांकन वैध पाए गए हैं, जबकि प्रधान के दो और ग्राम पंचायत सदस्य के 29 पर्चे खारिज किए गए हैं। कुदरहा में प्रधान के 615, बीडीसी सदस्य के 401 और ग्राम पंचायत सदस्य के 733 पर्चे वैध पाए गए हैं, यहां प्रधान के दो, ग्राम पंचायत सदस्य के पांच और बीडीसी सदस्य के दो पर्चे खारिज किए गए हैं। इसी कड़ी में परशुरामपुर में भी प्रधान के 631, ग्राम पंचायत सदस्य 236 तो बीडीसी सदस्य 429 पर्चे वैध पाए गए हैं। विक्रमजोत में प्रमुख के 618, सदस्य पद के 574 और बीडीसी सदस्य के 372 पर्चों को वैध घोषित किया गया।) यहां प्रधान पद पर तीन, ग्राम पंचायत सदस्य पद पर 45 और बीडीसी सदस्य के चार पर्चों को विभिन्न कारणों से निरस्त कर दिया गया है। साऊहताट में प्रधान के 670, बीडीसी सदस्य पद पर एक पर्चा खारिज कर दिया गया जबकि 527 पर्चों को वैध पाया गया, वहीं, सदस्य पद के सात निरस्त 749 वैध पाए गए। बहादुरपुर में प्रधान पद के चार पर्चे निरस्त किए गए, जबकि 730 पर्चे वैध पाए गए हैं। बीडीसी सदस्य के 12 तो ग्राम पंचायत सदस्य पद के 60 पर्चे निरस्त किए गए हैं। यहां बीडीसी सदस्य के 519 तो सदस्य पद के 673 पर्चे वैध पाए गए हैं। सल्टौआ गोपालपुर में प्रधान के 670, बीडीसी सदस्य पद पर 481 और ग्राम पंचायत सदस्य पद पर 901 पर्चे वैध पाए गए हैं। यहां प्रधान के तीन, ग्राम पंचायत सदस्य के 38 और बीडीसी सदस्य के चार पर्चे खारिज कर दिए गए। दुबौलिया में प्रमुख पद पर 502, बीडीसी सदस्य 389 और ग्राम पंचायत सदस्य पद के 578 के पर्चे वैध पाए गए हैं। यहां प्रधान का एक बीडीसी सदस्य के तीन और सदस्य पद के 67 पर्चों को निरस्त किया गया है।

तय हो गए चुनावी दंगल के महारथी

सभी आरओ ने वैध नामांकन पर लगाई मुहर

29 अप्रैल को ब्लॉकवार होगा मतदान

अंतरिम एजेंसी

बत्तीसी। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में पर्चों की जांच पूरी करने के बाद चुनावी दंगल में अपनी ताकत दिखाने के लिए दावेदारों की प्रत्याशीता तय हो गई है। जिले के सभी आरओ ने प्रधान, बीडीसी मेंबर और ग्राम पंचायत सदस्यों के पर्चों की गहनता से जांच के बाद मुहर लगाई।

इस क्रम में हर्रैया में प्रमुख पद पर 367, बीडीसी सदस्य पद पर 270 और ग्राम पंचायत सदस्य पद पर 729 पर्चे वैध पाए गए हैं, जबकि प्रधान का एक, बीडीसी सदस्य का दो तो सदस्य पद का 95 पर्चे खारिज हो चुके हैं। गौर में प्रधान पद के 1046, सदस्य पद के 776 व बीडीसी सदस्य के 622 पर्चे जांच में वैध पाए गए हैं। यहां प्रधान पद का एक, सदस्य के 12 व बीडीसी सदस्य का एक पर्चा खारिज किया गया है। रुधौली में कोई भी नामांकन पत्र निरस्त नहीं किया गया है। यहां ग्राम प्रधान पद पर 496, ग्राम पंचायत सदस्य पद पर 576 जबकि बीडीसी सदस्य पद पर 242 ने दावेदारी की। सभी के पर्चे वैध पाए गए हैं। वहीं, बनकटी ब्लॉक में प्रधान के सात व ग्राम पंचायत सदस्य पद के 28 जबकि बीडीसी सदस्य के तीन नामांकन निरस्त किए गए हैं। यहां कुल 661 प्रमुख, 502 सदस्य व 374 बीडीसी सदस्य के नामांकन पत्र वैध पाए गए हैं। कप्तानगंज में प्रमुख पद के 379, सदस्य के 420 जबकि बीडीसी सदस्य के 231 पर्चे वैध पाए गए हैं। यहां प्रधान पद के तीन, सदस्यों के 37 तो बीडीसी सदस्य के तीन पर्चे खारिज किए गए हैं। रामनगर ब्लॉक में प्रधान के 642, ग्राम पंचायत सदस्य 583 तो बीडीसी सदस्य के 384 नामांकन वैध पाए गए हैं, जबकि प्रधान के दो और ग्राम पंचायत सदस्य के 29 पर्चे खारिज किए गए हैं। कुदरहा में प्रधान के 615, बीडीसी सदस्य के 401 और ग्राम पंचायत सदस्य के 733 पर्चे वैध पाए गए हैं, यहां प्रधान के दो, ग्राम पंचायत सदस्य के पांच और बीडीसी सदस्य के दो पर्चे खारिज किए गए हैं। इसी कड़ी में परशुरामपुर में भी प्रधान के 631, ग्राम पंचायत सदस्य 236 तो बीडीसी सदस्य 429 पर्चे वैध पाए गए हैं। विक्रमजोत में प्रमुख के 618, सदस्य पद के 574 और बीडीसी सदस्य के 372 पर्चों को वैध घोषित किया गया है।) यहां प्रधान पद पर तीन, ग्राम पंचायत सदस्य पद पर 45 और बीडीसी सदस्य के चार पर्चों को विभिन्न कारणों से निरस्त कर दिया गया है। साऊषाट में प्रधान के 670, बीडीसी सदस्य पद पर एक पर्चा खारिज कर दिया गया जबकि 527 पर्चों को वैध पाया गया, वहीं, सदस्य पद के सात निरस्त 749 वैध पाए गए। बहादुरपुर में प्रधान पद के चार पर्चे निरस्त किए गए, जबकि 730 पर्चे वैध पाए गए हैं। बीडीसी सदस्य के 12 तो ग्राम पंचायत सदस्य पद के 60 पर्चे निरस्त किए गए हैं। यहां बीडीसी सदस्य के 519 तो सदस्य पद के 673 पर्चे वैध पाए गए हैं। सल्टौआ गोपालपुर में प्रधान के 670, बीडीसी सदस्य पद पर 481 और ग्राम पंचायत सदस्य पद पर 901 पर्चे वैध पाए गए हैं। यहां प्रधान के तीन, ग्राम पंचायत सदस्य के 38 और बीडीसी सदस्य के चार पर्चे खारिज कर दिए गए। दुबौलिया में प्रमुख पद पर 502, बीडीसी सदस्य 389 और ग्राम पंचायत सदस्य पद के 578 के पर्चे वैध पाए गए हैं। यहां प्रधान का एक बीडीसी सदस्य के तीन और सदस्य पद के 67 पर्चों को निरस्त किया गया है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

User~Online 43
Sitemap | AdSense Approvel Policy|